Free Hindi Shayri Quotes by Dr Fateh Singh Bhati | 111365953

आगे बढ़ने से पहले कितनी ही बार मुड़कर उसने कुछ सोचा तो होगा
बिखरी थी इश्क की राख उस मोड़ को भीगी पलकों से देखा तो होगा

©फ़तह

પ્રભુ 3 years ago

વાહ મસ્ત 👏✍️

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories