Free Marathi Shayri Quotes by Swati | 111628115

आदरणीय प्रिय वाचक.....
पता है ...ये तो सिर्फ लब्ज ही है...
पर कुछ लब्ज होते बडे अजीब है
कुछ उलझन को बढाते है
तो कुछ

read more

View More   Marathi Shayri | Marathi Stories