Hey, I am on Matrubharti!

करना चाहिए जीना चाहिए किसी दिन किसी और के लिए
पर जब अपने कभी खुदको कभी प्यार किया ही नहीं अपने लिए जिया ही ना हो तो ऐसे जीने का भी
क्या फायदा।

-ARCHANA DABHI__સ્વયમ્Aવ

Read More

🐝>🪰

-ARCHANA DABHI__સ્વયમ્Aવ

સાંભળી લેશું મેણા જો સંભળાવશે દુનિયા...
પણ જો જમીર મેણા મારશે તો ક્યાં જઈશું?

-ARCHANA DABHI__સ્વયમ્Aવ

અપેક્ષા-ઉપેક્ષા છોડો ને સાહેબ સમય લાગશે આવું બધું સમજવામાં.

-ARCHANA DABHI__સ્વયમ્Aવ

જે કરે છે તું જે કરવાનો છે તું .. સંભાળ 'માણસ... સરળ નથી...માન્યું, જોકે કોઈ કરે અને કહે એમ જ કરવું પણ સરળ નથી, અજીબ છે જીંદગી ક્યારેક જીવવાની મજા આવે અને ક્યારેક જીવવાથી ડર પણ લાગે.

-ARCHANA DABHI__સ્વયમ્Aવ

Read More

आज तक ऐसा नहीं हुआ पर आज मन कर रहा हे काश बाहर की आवाजों मे अपने अंदर का शोर बस थोड़ी देर के लिए छुपा सकू।

-ARCHANA DABHI__સ્વયમ્Aવ

Read More

💮💮💮💮

-ARCHANA DABHI__સ્વયમ્Aવ

માટી નું શરીર છે સાહેબ... હવે અક્કડ થવા લાગ્યું છે...અંદર થી સૂકું અને બા'ર જોતા શાંત થવા લાગ્યું છે...

-ARCHANA DABHI__સ્વયમ્Aવ

Read More

थक सी जाती हूं मैं सोच नही पाती हूं
समय तो देखो मेरा खुले हे हाथ, पर अपना मन खोल कर कुछ कर नही पाती हूं

समय देखू या हालात ,में सुधार नहीं जब पाती हूं हे महादेव तब में बस आप ही के शरण में आ जाना चाहती हूं

नाम लू में आपका या बनू में कर्मयोगी
बस यही कश्मकश महादेव में समाज नही पाती हूं

शरण में आजाऊ और छोड़ दू सब आप पे
या करती रहूं काम और तेज़ी से बढ़ती रहूं आगे

पता हे नही बुरा दोनो ही सही हे
पर ये ऐक तरफी जिंदगी में आज कल समज नही पाती हूं

संभालु खुदको या आप के सहारे में आ जाऊ, संभलने पर लगता हे
क्या में आपके संकेतो को समझ नही पा रही हूं


अजीब सा लगता हे जब देखती हूं खुदको आइनो में
पहले में - में थी या अब कोई ओर बनती जारही हूं

समय फिरसे ले रहा है मेरी परीक्षा
सुधारलू में खुदको या
दरिया के प्रवाह में खुदको बहने देना चाहती हूं..
बस महादेव में यही समझ नही पाती हूं ।

Read More

We (meet)...we (see)
We (miss)...we( text)
We (share)...we (close)
We (live)...we (enjoyed)
We (stayed)...we( fall)
We( attached)...we (cried)
We (liked)...we (loved)
We (smiled)... We (gathered)
We (touched)... We (feel)
We (sync)...we (busy)
I (Cared)...u (cared)
I (busy)...u (waited)
I (love)...u (irritate)
I (wait)...u (engry)
I (irritate)...u (cared)
I (cared)...u (rushed)
I (distend)...u (wait)
I (busy)...u (request)
I (contect)...u (fight)
I (engry)...(so u too)
I (in-attitude)...u (in-ego)
I (distend)...u (district)
I (stilllove)...u (stillcare)
I (waiting)...u (waiting.)
I (.......)...u(...…..) .

Read More