Dip, The shayar.

ए इश्क़

इम्तिहान तेरे

कुछ कम तो कर

दीवाने इस दिल पर

थोड़ा सा ही सही रहम तो कर

-Dip. The Shayar

हर कोई है इश्क़ में,
हर कोई दर्द में भी है,

अरे ये तो सरासर इल्जाम है,
और हर किसीको मंजूर भी नहीं।

-Dip. The Shayar

koi aake chala gaya mere khwab me
pakdna chaha to tha saya anchhuaa

chupke se aaya taki aahat Naa hooo
aur chupke se gaya taki ilzam na hoo

-Dip. The Shayar

बस इतना सा जो कह दे वो
आप के बिना सब सुना सुना

और ज्यादा सुनने की उम्मीद नहीं
इतने में ही मुस्कुरा लेगा दिल का कोना कोना।

-Dip. The Shayar

Read More

डूबोएंगे तो मिलके
ताके इल्जाम सिर्फ आपपे ना आ जाए,
हम भी कसूरवार बने
बेवफा सिर्फ आप अकेले ना कहलाए।

-Dip. The Shayar

Read More

वो लड़की है जनाब
इग्नोर करने का हूनर
बखूबी जानती है वो।

-Dip. The Shayar

तु अनपढ़ है तो क्या हुआ शायरी की दुनिया में,
हम भी ज्ञान की नहीं सिर्फ दिल की बात कहते है।

-Dip. The Shayar

तेरे इंतज़ार को सितारा बनाकर..
सारी रात यादोंका आसमान देखेंगे।

-Dip. The Shayar

इतना भी गलत ना समझो किसी को,
के कोई गुंजाइश ही ना बचे सुलह की।

-Dip. The Shayar

उन्होंने कभी जूठी उम्मीद दी ही नहीं,
हमने ही सपने जरा ज्यादा संजो लिए।

-Dip. The Shayar