Hey, I am on Matrubharti!

अब तो चले आओ।
एक सदिया गुजर गई
तुम्हारी राह तकते-तकते।।
मीरा सिंह

-Meera Singh

ये जिन्दगी एक तमाशा बन गई है।
यहाँ हर रिश्ता सिर्फ पैसे की जुबाॅ समझता है।।
मीरा सिंह

-Meera Singh

आज आपके जन्मदिन पर
मेरी एक दुआ कुबूल हो जाए।
आप जो भी चाहे वो आपको
एक पल मे नसीब हो जाए।।
मीरा सिंह

-Meera Singh

जब होगी तेरी इनायत
तब हम इबादत करेगे।
तेरे ही गले लगकर
तुझसे तेरी शिकायत करेगे।।
मीरा सिंह

-Meera Singh

एक मुद्दत बित गई
उनका दीदार हुए।
मगर एक ऐसा कोई पल नही गुजरा
जिस पल हमे उनकी याद नही आई। ।
मीरा सिंह

-Meera Singh

चाँद निकल आया
रात हो गई।
ये आँखे खुली रही
फिर भी उनसे मुलाकात हो गई। ।
मीरा सिंह

-Meera Singh

आज कोई बहुत याद आ रहा है।।

मीरा सिंह

-Meera Singh

समय तो अपनी रफ्तार से चला जा रहा है।
पर मै तो आज भी वही खड़ी हूँ ।।
जहाँ तुमने कहा था।
थोड़ी देर रूको मै आ रहा हूँ। ।
मीरा सिंह

-Meera Singh

Read More

इस चाँदनी रात मे
तेरा दीदार चाहता है ये दिल।
दिन-रात सुबह-ओ-शाम
तेरा साथ चाहता है ये दिल।।
मीरा सिंह

-Meera Singh

Read More

तेरे दीदार को
तरस रहे है ये नैन।
काश तू आए
और ये वक्त ठहर जाए। ।
तेरे आगोश मे आने की आस मे है ये रैन।।
मीरा सिंह

-Meera Singh

Read More