Quotes by किरन झा मिश्री in Bitesapp read free

किरन झा मिश्री

किरन झा मिश्री

@mishri


संसार का हर समस्त प्राणी,
भगवान की है अनमोल कृति।
संपूर्ण हो जायेगा जीवनकाल,
तभी जिंदगी की डोर,होगी इति।।

सुप्रभात
मिश्री

-किरन झा मिश्री

Read More

एक वक्त ऐसा भी था,
जब नहीं लगता था,
उसका मन मेरे बिन।
और आज उसके,
बहुत चाहने वाले हैं,
पर जब कोई नहीं मिलता,
तो वह वापस आ जाता,
समझकर एक डस्टबिन।।

मिश्री

-किरन झा मिश्री

Read More

अपनत्व भाव अगर मन में है तो,
अजनबी रिश्तें भी निखर जाते।
अहम और अहंकार भरे मन से,
खास रिश्ते भी बिखर जाते।।

सुप्रभात
मिश्री

-किरन झा मिश्री

Read More

विषय - दो वक्त की रोटी

अपना घर परिवार चलाने के लिए,
जब करता कड़ी मेहनत मजदूर।
हाथ में कुछ पैसा आ जाए,
इस लिए घर से रहता है वह दूर।।

अपनों की भोजन व्यवस्था के लिए,
परदेश भी वह चला जाता है।
कमाई का साधन बनाने के लिए,
जी तोड़ परिश्रम वह लगाता है।।

इज्जत की दो रोटी के लिए,
छोटे बड़े काम में कोई शर्म नहीं करता।
बस गलत काम से परहेज करके,
अपने परिवार का भरण पोषण करता।।

सर्दी, गर्मी, वर्षा के मौसम में भी,
दो वक्त के भोजन की करता वह व्यवस्था।
घर में कोई भूखा न सोए,
चाहें हो जाए उनकी हालत खस्ता।।

एक नई उम्मीद और आशा के साथ,
जब वह सुबह मजदूरी पर निकलता।
आज चार पैसे ज्यादा है कमाना,
बस यही सोच से वह प्रतिदिन है विचरता।।

किरन झा(मिश्री)

-किरन झा मिश्री

Read More

विषय - कोई तो होगा

जो बालों की सफेदी न देखकर,
उसके बालों में उंगलियां सहलाएगा।
कोई तो ऐसा होगा जो,
उसे दिल से अपना बतायेगा।।

जो उसके चेहरे की बिंदी न देखकर,
उसके ललाट को चूम जायेगा।
कोई तो ऐसा होगा जो,
उसे अपनेपन का एहसास करायेगा।।

जो उसके चेहरे की झुर्री न देखकर,
उस मासूम से चेहरे को समझ पायेगा।
कोई तो ऐसा होगा जो,
उसे उसके दिल से जान जायेगा।।

जो उसके अधरों की लाली न देखकर,
उसकी मधुर मुस्कान को देख पायेगा।
कोई तो ऐसा होगा जो,
उसे एक प्यारी सी मुस्कान दे जायेगा।।

जो कंपकपाती हथेलियों को न देखकर,
अपने हाथों में हाथ लेकर,प्यार से दबायेगा।
कोई तो ऐसा होगा जो,
उसे साथ होने का एहसास करायेगा।।

जो लड़खड़ाते कदमों को न देखकर,
उसका हम कदम बन जायेगा।
कोई तो ऐसा होगा जो,
उसका हमराही बन साथ निभायेगा।।

जब वह अपने आप को खोने लगे तो,
उसके होने के वजूद को याद दिलाएगा।
कोई तो ऐसा होगा जो,
उसके होने का एहसास करायेगा।।

जवानी की उम्र ढलती हुई देखकर भी,
उसे युवा होने का आभास करायेगा।
कोई तो ऐसा होगा जो,
उसे जीवन जीने की कला सिखायेगा।।

किरन झा (मिश्री)
ग्वालियर मध्य प्रदेश

-किरन झा मिश्री

Read More

जीवन दिया है ईश्वर ने,
सार्थक करें कोई महत्वपूर्ण कार्य।
जीवन का उद्देश्य समझकर,
रखें उस काम को शिरोधार्य।।

सुप्रभात

-किरन झा मिश्री

Read More

इश्क की कोई हद नहीं होती,
इश्क हो जाता है बेहिसाब।
जो स्वार्थ से इश्क है करता,
वही रखता है हिसाब किताब।।

मिश्री

-किरन झा मिश्री

Read More

आना है तो जल्दी आओ,
चाय नाश्ते का प्रबंध है।
ज्यादा देर लगा दी तो,
रास्ते सारे फिर बंद है।।

😂मिश्री😂

-किरन झा मिश्री

Read More

प्रेम एक ठहराव है,
वहीं आकर्षण जगह जगह ठहरता।।
प्रेम भक्ति और प्रेम शक्ति है,
वहीं आकर्षण का अस्तित्व बिखरता।।

मिश्री

-किरन झा मिश्री

Read More

खुद को खुश रखने के तरीके ढूंढ लो और उसे अपनी आदत बना लो
वरना एक वक्त के बाद तुम्हारी पूरी जिंदगी में मायूसी छा जाएगी
✍️✍️Skm ✍️✍️।।

-किरन झा मिश्री

Read More