Free Hindi Thought Quotes by Deepak kandya | 111416672

neelam kulshreshtha 2 years ago

आपने मेरे उपन्यास दह_शत को बार बार 5सितारे दिये।बहुत धन्यवाद।इस में समिधा के किरदार को देखा होगा।यदि स्त्री सही है तो उसे ऐसा ही होना चाहिये।

Abha Yadav 2 years ago

यथार्थ यही है

Dr kavita Tyagi 2 years ago

कटु यथार्थ की अभिव्यक्ति

Chaya Agarwal 2 years ago

बिल्कुल

Alka Sinha 2 years ago

बिलकुल सही कहा। मेरी कविता की एक पंक्ति है है निकटतम ही सदा पीड़ाजनक हर कोई आघात पहुंचाता नहीं।

View More   Hindi Thought | Hindi Stories