Free Hindi Thought Quotes by NupuR KumaR | 111693300

इस जहां में कोई हमसे भी तो पूछे!

"कहाँ हो आज कल, गुम ही हो जैसे।

तुम और तुम्हारा बचपना याद आता है,
बहोत कुछ सिखाते थे

और अब खुद ही इतने बड़े हो गए हो
कि खुद को भी भूल गए हो।

कभी चाहत थी तुम जैसे बने,
और ये क्या तुम भी हम जैसे हो गए। "

- नूपुर

View More   Hindi Thought | Hindi Stories