Free Hindi Shayri Quotes by Sohail K Saifi | 111696517

तेरी मोहब्बत की रेहमतो को पाना चाहता हूँ ...............
तेरे जज़्बातो की उलझनों को सुलझाना चाहता हूँ .....

तेरी मोहब्बत की रेहमतो को पाना चाहता हूँ .............
तेरे जज़्बातो की उलझनों को सुलझाना चाहता हूँ ....

गुमनामी में जीने से डरता हूँ मैं......

तेरे इश्क़ में बदनाम हो कर मरजाना चाहता हूँ.......

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories