Free Hindi Shayri Quotes by Aj.. | 111750945


कि तुम भटकते रहेना गैरों की बाहों में
हम तो सूकून से सोएंगे अपनी आगोश में

~✍️Aj...