Free Hindi Quotes Quotes by Archana Singh | 111776227

🙏🌷✍

बुद्धिविवेक प्रतिपल उसकी हो रही न्यून,

दान-दया से परे लोभ-लालच में जकड़।

मानव मन बड़ा ही अख्ज़ आता नज़र,

सिर्फ पाने की चाहत ही रखी है जकड़ ।

🌷✍


सड़ी गली वस्तुओं से ही मा़त्र, नहीं आती है यहाँ चरायंध। 

गर दूषित हो सोच विचार, तो इत्र से भी नहीं जाती दुर्गंध।

* अर्चना सिंह जया

View More   Hindi Quotes | Hindi Stories