हद का अंदाजा लगाकर आगे बढ़ेंगे तो मंजिल तक नहीं पहुंच पाऐगे,
मंज़िल तभी हासिल होती है , जब हदका नही पर हौसलो का अंदाजा लग जाए....

-Dhoriya Daxa

Read More

चार दिनों में इश्क नही होता,
समझना समझाना आसान नहीं होता,
सब्र करना भी कोई उनसे सीखे ,
क्योंकि इंतजार करना भी तो सभी को नही आता ...

-Dhoriya Daxa

Read More

જોઈએ છે તે મળતું નથી ,
મળે છે એ ગમતું નથી ,
અને જે ગમે છે એનું કોઈ મૂલ્ય નથી ...

-Dhoriya Daxa

તમે ખાલી રાહ જુવો ,
આજ નહિ તો કાલે મુલાકાત થવાની જ છે ...

ક્યારે પણ વિચાર્યું ન હતું એવી એક મુલાકાત થઈ ગઈ ...
સવારથી સાંજ થઈ ,
ઓનલાઇન જ ખાલી વાતો થઈ ...
પણ એવી એક વાત થઈ ,
શબ્દોથી જ પહેચાન થઈ ...
તે દિવસે ઘડિયાળનો કાંટો પણ જડપથી દોડ્યો ...
દિલ ધબકવા લાગ્યું ,
ભય અને પ્રેમ ના સ્પંદનો એ ઓળખાણ આગળ વધી ,
પછી એજ દિલ એ એક પ્રશ્ર્ન કર્યો ,
આ કેવી મુલાકાત થઈ ગઈ ...

-Dhoriya Daxa

Read More

तलाश सुकून की थी ,
पता नहीं कब तुम मिल गए ...
वास्ता अपनों से ही रखा था ,
पता नहीं कब ,किस मुलाकात में तुम मिल गए ...
जरूरत सिर्फ अपनेपन की थी ,
पता नहीं कब तुम अपनोमे सामिल हो गए ...

-Dhoriya Daxa

Read More

वो तो जन्म से ही आब ए आईना है ,
उन्हें अराईश की क्या जरूरत ....

-Dhoriya Daxa

वो ये जानते है , हमे उनसे इश्क नही है ...
पर वो ये क्यों नही जानते कीकही ना कही हमे भी उनसे इश्क है...

-Dhoriya Daxa

वो किसिके साथ खुश है ,
अब गैरो से शिकायत ही कैसी ...
और हम भी उसे खुश ना देख सके तो
हमारी भी महोब्बत ही कैसी ...

जमाने को नही समझा कभी ,
इसीलिए सब चालबाज निकले ...
बहारवालोको भी इन्सानियत समझकर अपना माना ,
इसीलिए सब धोकेबाज निकले ...

-Dhoriya Daxa

Read More