Free Hindi Poem Quotes by Vibhu | 111523967

जिंदगी मुस्कुराने लगी
जब मैं खुल के जीने लगी।
पहले बहोत जी लिया घुटन में
अब खुल कर सांस लेने लगी।
बहोत कर लिया सबके लिए
अब खुद के लिए कुछ करने लगी।
आज पता चला खुल के हसना क्या है
जब दिल खोलकर खुश होने लगी।

View More   Hindi Poem | Hindi Stories