Free Hindi Shayri Quotes by सनातनी_जितेंद्र मन | 111765131

गुजर रहा हूँ जिस पीड़ा से,क्या खबर नहीं है तुम्हें।
या सबर नहीं तुममें, की तुम ही गुजर गयी हो।।
read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories