Free Hindi Poem Quotes by sneh goswami | 111794147

रूह में धीरे से उतर आते हो
बारिश की फुहार की तरह
तन मन भिगो जाते हो
वासंती बयार की तरह

-sneh goswami

View More   Hindi Poem | Hindi Stories