Free Hindi Shayri Quotes by Rajendra singh bisht | 111494339

अपने साए से दुश्मनी मंजूर थी मुझे , तेरा सामना जो करने की हिम्मत नहीं थी!

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories