Free Hindi Quotes Quotes by हेतराम भार्गव हिन्दी जुड़वाँ | 111736711

बहुत दुखी हो उठता हूँ, देख गुमराही बालमन को।
विवेक हीन विज्ञान की दुनिया, खा रही बचपन को।

-हेतराम भार्गव हिन्

read more

View More   Hindi Quotes | Hindi Stories