Free Hindi Shayri Quotes by Laj Khatri | 111765957

आज मेने उस इंसान को भी टूटते हुए देख जो कल तक सबसे मजबूत हुआ करता था ....।।

-Laj Khatri

shekhar kharadi Idriya 6 months ago

बहुत बढ़िया किंतु वक़्त और हालात के आगे सब मजबूर हैं क्योंकि मजबूत पाषाण भी लगातार प्रहार करने से टूट जाता है । फिर इंसान क्या चीज़ है ।

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories