Free Hindi Shayri Quotes by Prahlad Pk Verma | 111804076

आज तक मैने चाय के कप में
चाय का एक घूट तक नही छोड़ा
तेरा साथ कैसे छोड़ देता...
तुमने हाथ दोस्ती का बढ़ाया ही नहीं
मैं तेरे लिए सब कुछ छोड़ देता...
तुम एक दफा आवाज दे कर तो देखते मुझे
मैं तेरे लिए दुख से भी रिश्ता जोड़ लेता...

-Prahlad Pk Verma

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories