Free Hindi Thought Quotes by Ashish Dalal | 111331689

थोड़ा बहुत स्वार्थ तो हर संबंध में होता ही है किंतु जब यह स्वार्थ संबंधों पर हावी हद से ज्यादा होने लगता है तो दूरियां न चाहकर भी बनना शुरू हो ही जाती है।

View More   Hindi Thought | Hindi Stories