Free Hindi Quotes Quotes by Bhavika Gor | 111583844

माफी कैसे मंजूर हो ? जब ज़हन में सिर्फ लफ्ज़ हों!
पस्तावा अगर आंखों और तरीकों में बस जाए!
फिर तो माफी तक की क्या जर

read more

View More   Hindi Quotes | Hindi Stories