Free Hindi Poem Quotes by Misha | 111791392

बता नहीं सकती कितनी परेशान हूँ मैं
कभी जानने की कोशिश की है तुमने
कि कितनी परेशान हूँ मैं
तुमने तो कभी समझा ही नहीं मुझे
हमेशा अपने में ही मगन रहे तुम
कुछ कहना तो दूर की बात है
दिल की बात समझ ही नहीं पाए तुम
हमेशा अपने में ही मगन रहे तुम
अब कुछ कहना नहीं
कुछ सुनना नहीं
बस इतनी सी बात है
तुम भी खुश रहो हम भी
जो कुछ भी हमारे बीच था
वो प्यार था या नहीं पता नहीं
लेकिन अब इतना पता है
ये प्यार दुबारा होगा नहीं

View More   Hindi Poem | Hindi Stories