Free Gujarati Shayri Quotes by Chandrika Gamit | 111821842


बातें वो आवाज़ कुछ हलकी हलकी सी है
पर यादे ठेहर गयी हैं तेरे पास
धीरे धीरे आगे बढ़ रहें है हम
पर वो साथ कही रह गया है तेरे पास
हसते रहते है वैसे तो हम
पर वो मुस्कान ठहर गयी है तेरे पास
तुझे मूड कर देखा नहीं फिर कभी
पर ये नज़र ठहर गयी है तेरे पास
वक़्त बस युही गुजरता रहता है
पर हर जज़्बात रह गये हैं तेरे साथ
हम तो निकल गये है कब से दूर तूमसे
पर ये दिल तो वही ठेहर गया है तेरे पास।
-Chandrika Gamit