Free Hindi Poem Quotes by Prem Nhr | 111628071

हमारा साथ ऐसा, जैसे तुम बचपन से ही साथ रहे,
जब तुम मिले, मेरे गम धुले, मेरा मन फूलों सा खिले।

तुम आयी थी ठीक खुशब

read more
Prem Nhr 1 year ago

आपका बहुत-बहुत शुक्रिया, सरोज जी।

View More   Hindi Poem | Hindi Stories