मशगूल वो भी हैं,
,,,,,,,मशगूल हम भी हैं
मगर अफ़सोस,
वो उन-ही में हैं,
,,,,ओर् हम उन्हीं में हैं ,,@

Hindi Shayri by Abbas khan : 111902983

The best sellers write on Matrubharti, do you?

Start Writing Now