Free Hindi Poem Quotes by राकेश सोहम् | 111373152


अब
किस बात की
दूं दुहाई
और तुम्हें मना लूं
भटका हुआ हूं
मैं खुद
पहले खुद को पा लूं।

@ राकेश सोहम्
#भटकना